Sunday, May 3, 2020

ᐅSharabi Shayari In Hindi | Sharabi Shayari With Images, Quotes

Sharabi Shayari in Hindi : तो दोस्तों आप लोग जैसे की जानते है की शराब पीना हमारे शरीर के लिए हानिकारक है। 

फिर भी हम कई बार अपने दोस्तों या भाइयो को हंसाने के लिए या उनके चेहरे पर मुस्कराहट लाने के लिए प्यारी और Funny Sharabi Shayari In Hindi   भेजते हैं| जैसा की दोस्तों आप लोग ये जानते ही है की किसी भी तरह की Celebrate करना हो तो को शराब के द्वारा एक आम बात हो गयी है।

आज की हमारी ये पोस्ट उन लोगो के लिए है जिनको शराबी शायरी इन हिंदी बेहद पसंद आती है। अगर आपको भी अपने मित्रो और भाइयो को ऐसे फनी और अच्छी शराबी शायरी व्हाट्सप्प या फेसबुक पर शेयर करना कहते हैं तो इस पोस्ट की मदद ले सकते हैं| 

इस पोस्ट में आपके लिए बहुत अच्छी Sharabi Shayari In Hindi, Sharabi Shayari, Sharab Shayari 2 Lines, Daru Shayari दी गयी है आशा करते है आपको ये Hindi Sharabi  Shayari बहोत पसंद आएगी।

Sharabi Shayari In Hindi

तुम्हारे आँखों की तौहीन है ज़रा सोचो  तुम्हारा चाहने वाला शराब पीता है
तुम्हारे आँखों की तौहीन है ज़रा सोचो
तुम्हारा चाहने वाला शराब पीता है

ना ज़ख्म भरे, ना शराब सहारा हुई,  ना वो वापस लौटे, ना मोहब्बत दोबारा हुई....
ना ज़ख्म भरे, ना शराब सहारा हुई,
ना वो वापस लौटे, ना मोहब्बत दोबारा हुई....

Sharabi Shayari In Hindi
Sharabi Shayari In Hindi
पहले तुझ से प्यार करते थे
अब शराब से प्यार करते हैं
यह भी पढ़े। 
ᐅ Rahat Indori Shayari
ᐅ Top Smoking Status In Hindi
Best Army  Shayari In Hindi

पीने से कर चुका था मैं तौबा मगर ‘जलील’  बादल का रंग देख के नीयत बदल गई,.,!!!
पीने से कर चुका था मैं तौबा मगर ‘जलील’
बादल का रंग देख के नीयत बदल गई,.,!!!

तेरी आँखों के ये जो प्याले हैं,  मेरी अंधेरी रातों के उजाले हैं,  पीटा हूँ जाम पर जाम तेरे नाम का,  हम तो शराबी बे-शराब वाले हैं!!
तेरी आँखों के ये जो प्याले हैं,
मेरी अंधेरी रातों के उजाले हैं,
पीटा हूँ जाम पर जाम तेरे नाम का,
हम तो शराबी बे-शराब वाले हैं!!

Sharabi Shayari

बोतल छुपा दो कफ़न में मेरे  शमशान में पिया करूंगा,  जब खुदा मांगेगा हिसाब  तो पैग बना के दिया करूंगा
बोतल छुपा दो कफ़न में मेरे
शमशान में पिया करूंगा,
जब खुदा मांगेगा हिसाब
तो पैग बना के दिया करूंगा

Sharabi Shayari
Sharabi Shayari
मयखाने से पूछा आज इतना सन्नाटा क्यों है,
बोला साहब लहू का दौर है शराब कौन पीता है।

जो सुरूर है तेरी आँखों में वो बात कहां मैखाने में  बस तू मिल जाए तो फिर क्या रखा है ज़माने में
जो सुरूर है तेरी आँखों में वो बात कहां मैखाने में
बस तू मिल जाए तो फिर क्या रखा है ज़माने में

मत कर हंगामा पीकर हमारी गली में,  हम तो खुद बदनाम है तेरी मोहब्बत के नशे में!
मत कर हंगामा पीकर हमारी गली में,
हम तो खुद बदनाम है तेरी मोहब्बत के नशे में!

पिलाने वाले कुछ तो पिला दिया होता,  शराब कम थी तो पानी मिला दिया होता!
पिलाने वाले कुछ तो पिला दिया होता,
शराब कम थी तो पानी मिला दिया होता!

Sharabi Shayari With Images

चुप चाप चल रहे थे अपनी मंज़िल की ओर   फिर ठेके पर नज़र पड़ी और गुमराह से हो गये हम.
चुप चाप चल रहे थे अपनी मंज़िल की ओर
फिर ठेके पर नज़र पड़ी और गुमराह से हो गये हम.

Sharabi Shayari With Images
Sharabi Shayari With Images
थोड़ी सी पी शराब थोड़ी उछाल दी
कुछ इस तरह से हमने जवानी निकाल दी

Sharabi Shayari With Images
मेरी तबाही का इल्जाम अब शराब पर है;
करता भी क्या और तुम पर जो आ रही थी बात।

तू होश में थी फिर भी हमें पहचान न पायी,  एक हम हैं कि पी कर भी तेरा नाम लेते रहे
तू होश में थी फिर भी हमें पहचान न पायी,
एक हम हैं कि पी कर भी तेरा नाम लेते रहे

नशा हम किया करते है, इलज़ाम शराब को दिया करते हैं;  कसूर शराब का नहीं उनका है जिनका चेहरा हम जाम में तलाश किया करते हैं।
नशा हम किया करते है,
इलज़ाम शराब को दिया करते हैं;
कसूर शराब का नहीं उनका है
जिनका चेहरा हम जाम में तलाश किया करते हैं।

Sharab Shayari 2 Lines

शराब और मेरा कई बार ब्रेकअप हो चुका है;  पर कमबख्त हर बार मुझे मना लेती है
शराब और मेरा कई बार ब्रेकअप हो चुका है;
पर कमबख्त हर बार मुझे मना लेती है

यादों से सलाम लेता हूँ,  वक्त के हाथ थाम लेता हूँ,  ज़िन्दगी थम जाती है पल भर के लिए,  जब हाथों में शराब-ए-जाम लेता हूँ…
यादों से सलाम लेता हूँ,
वक्त के हाथ थाम लेता हूँ,
ज़िन्दगी थम जाती है पल भर के लिए,
जब हाथों में शराब-ए-जाम लेता हूँ…

पी के रात को हम उनको भुलाने लगे  शराब मे ग़म को मिलाने लगे  ये शराब भी बेवफा निकली यारो  नशे मे तो वो और भी याद आने लगे !
पी के रात को हम उनको भुलाने लगे
शराब मे ग़म को मिलाने लगे
ये शराब भी बेवफा निकली यारो
नशे मे तो वो और भी याद आने लगे !

Sharab Shayari 2 Lines
Sharab Shayari 2 Lines
जाम तो यू ही बदनाम है यारों कभी इश्क करके देखो,
या तो पीना भूल जाओगे या फिर पी-पी के जीना भूल जाओगे!!

है ये शराब दर्द की दवा मेरे,  इसे पीने में कोई खराबी नहीं,  होता है जब दिल में दर्द तो पी लेता हूँ,  वैसे हूँ मैं शराबी नहीं |
है ये शराब दर्द की दवा मेरे,
इसे पीने में कोई खराबी नहीं,
होता है जब दिल में दर्द तो पी लेता हूँ,
वैसे हूँ मैं शराबी नहीं |

Daru Shayari

इतनी पीता हूँ कि मदहोश रहता हूँ,  सब कुछ समझता हूँ पर खामोश रहता हूँ,  जो लोग करते हैं मुझे गिराने की कोशिश,  मैं अक्सर उन्ही के साथ रहता हूँ।
इतनी पीता हूँ कि मदहोश रहता हूँ,
सब कुछ समझता हूँ पर खामोश रहता हूँ,
जो लोग करते हैं मुझे गिराने की कोशिश,
मैं अक्सर उन्ही के साथ रहता हूँ।

 अभी तो इश्क़ हुआ है,   मंज़िल तो मयखाने में मिलेगी.
अभी तो इश्क़ हुआ है,
मंज़िल तो मयखाने में मिलेगी.

Daru Shayari
Daru Shayari
पीते थे शराब हम उसने छुडादी अपनी कसम दे कर
महेफिल में गए थे हम यारों ने पिलादी उसीकी कसम दे कर

कुछ तो शराफत सीख ले इश्क शराब से,  बोतल पे लिखा तो है मैं जानलेवा हूँ!!
कुछ तो शराफत सीख ले इश्क शराब से,
बोतल पे लिखा तो है मैं जानलेवा हूँ!!

हर किसी बात का जवाब नहीं होता  हर जाम इश्क में ख़राब नहीं होता  यूँ तो झूम लेते है नशे में रहने वाले  मगर हर नशे का नाम शराब नहीं होता
हर किसी बात का जवाब नहीं होता
हर जाम इश्क में ख़राब नहीं होता
यूँ तो झूम लेते है नशे में रहने वाले
मगर हर नशे का नाम शराब नहीं होता

तुम हसीन हो गुलाब जैसी हो  बहुत नाजुक हो ख्वाब जैसी हो  दिल की धड़कन में आग लगाती हो  होठों से लगाकर पी जाऊँ तुम्हे सर से पांव तक शराब जैसी हो
तुम हसीन हो गुलाब जैसी हो
बहुत नाजुक हो ख्वाब जैसी हो
दिल की धड़कन में आग लगाती हो
होठों से लगाकर पी जाऊँ तुम्हे सर से पांव तक शराब जैसी हो

Shayari On Sharab

नशा हम करते हैं,  इलज़ाम शराब को दिया जाता है,  मगर इल्ज़ाम शराब का नहीं उनका है,  जिनका चेहरा हमें हर जाम में नज़र आता है!
नशा हम करते हैं,
इलज़ाम शराब को दिया जाता है,
मगर इल्ज़ाम शराब का नहीं उनका है,
जिनका चेहरा हमें हर जाम में नज़र आता है!

बहुत शराब चढ़ाता हूँ रोज़  तब जाकर तुम कही उतरती हूँ
बहुत शराब चढ़ाता हूँ रोज़
तब जाकर तुम कही उतरती हूँ

Shayari On Sharab
Shayari On Sharab
तेरे होंठों में भी किया खूब नशा मिला
यूँ लगता है तेरे झूठे पानी से शराब बनती है

बात सजदों की नहीं नियत की है  मैखाने में हर कोई शराबी नहीं होता
बात सजदों की नहीं नियत की है
मैखाने में हर कोई शराबी नहीं होता

फिर इश्क़ का जूनून चढ़ रहा है सिर पे,   मयख़ाने से कह दो दरवाज़ा खुला रखे
फिर इश्क़ का जूनून चढ़ रहा है सिर पे,
मयख़ाने से कह दो दरवाज़ा खुला रखे

Sharabi Dost Shayari

मैखाने मे आऊंगा मगर पिऊंगा नही साकी;  ये शराब मेरा गम मिटाने की औकात नही रखती।
मैखाने मे आऊंगा मगर पिऊंगा नही साकी;
ये शराब मेरा गम मिटाने की औकात नही रखती।

Sharabi Dost Shayari
Sharabi Shayari In Hindi 
रहता तो नशा तेरी यादों का ही है
कोई पूछे तो कह देता हूँ, पी रखी है
बर्फ का वो शरीफ टुकड़ा जाम में क्या गिरा   बदनाम हो गया देता जब तक अपनी गवाही  वो खुद शराब हो गया

बर्फ का वो शरीफ टुकड़ा जाम में क्या गिरा
बदनाम हो गया देता जब तक अपनी गवाही
वो खुद शराब हो गया

Sharabi Shayari Hindi Me
Sharabi Shayari Hindi Me
मिलावट है तेरे इश्क में
इत्र और शराब की
कभी हम महक जाते हैं
कभी हम बहक जाते हैं




तो आपको हमारे Sharabi Shayari In Hindi कैसे लगे। अगर यह कोट्स आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। आपको इन Sharabi Shayari With Images को पढ़कर काफी अच्छा महसूस हुआ होगा। आगे भी ऐसी  कोट्स के लिए हमे Follow करे हमारे Instagram पर और Quotes को Share करे। धन्यवाद।

No comments:

Post a Comment