Tuesday, May 19, 2020

Narazgi Shayari, Narazgi Shayari Image, Quotes, Status

Narazgi Shayari :- दोस्तों आपका हमारी इस नाराज़गी वाली शायरी की पोस्ट में स्वागत है | यूं तो प्यार में रूठ जाना या नाराज होना कोई बड़ी बात नहीं है,

अक्सर हम अपने दोस्तों या गर्लफ्रेंड/बॉयफ्रेंड या किसी करीबी से नाराज़ हो जाते है तब हमें बहुत दुख होता है और हमारी कोशिश रहती है कि कैसे भी करके जल्दी से जल्दी उसे मना लिया जाए। 

उस समय आपको Narajgi Shayari की तलाश  रहती है, जिनके जरिए हम अपने प्रेमी को मना सकें। तब हम इस प्रकार की शायरी का इस्तेमाल करते है जैसे Narazgi Shayari in Hindi इन शायरी को हम अपने Facebook या Whatsapp के स्टेटस पे डालते है |

Narazgi Shayari

नाराज़ नहीं हूँ तेरे फ़रेब से….  ग़म ये है कि तेरा यकीन अब कैसे करू….
नाराज़ नहीं हूँ तेरे फ़रेब से….
ग़म ये है कि तेरा यकीन अब कैसे करू….

मुझसे नाराज न हो कही भी खुद को रख लूंगा,   तरसोगे एक दिन जब कफ़न से खुद को ढक लूंगा।
मुझसे नाराज न हो कही भी खुद को रख लूंगा,
तरसोगे एक दिन जब कफ़न से खुद को ढक लूंगा।

हर बात खामोशी से मान लेना..  यह भी अंदाज़ होता है नाराज़गी का
हर बात खामोशी से मान लेना..
यह भी अंदाज़ होता है नाराज़गी का

कुछ दूर हमारे साथ चलो,   हम दिल की कहानी कह देंगे,   समझे ना जिसे तुम आखो से,   वो बात जुबानी कह देंगे ।
कुछ दूर हमारे साथ चलो,
हम दिल की कहानी कह देंगे,
समझे ना जिसे तुम आखो से,
वो बात जुबानी कह देंगे ।
यह भी पढ़े। 
Exam Shayari 
I Hate You Shayari
Top Smoking Status In Hindi

Narazgi Shayari
Narazgi Shayari
मुझको छोङने की वजह तो बता देते..
मुझसे नाराज़ थे या..मुझ जैसे हज़ारों थे..

तुम हमसे फासले बरकरार ही रखना   तुम पर अब लिखने की तैयारी है...   आखों के करीब रख किताबे लिखी-पढ़ी नही जाती   उसके लिए कुछ फासलें बहुत जरूरी है...💞💕
तुम हमसे फासले बरकरार ही रखना
तुम पर अब लिखने की तैयारी है...
आखों के करीब रख किताबे लिखी-पढ़ी नही जाती
उसके लिए कुछ फासलें बहुत जरूरी है...💞💕

Narazgi Shayari Image

शिकवा तो एक छेड़ है लेकिन हकीकतन  तेरा सितम भी तेरी इनायत से कम नहीं।
शिकवा तो एक छेड़ है लेकिन हकीकतन
तेरा सितम भी तेरी इनायत से कम नहीं।

बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से  हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से  तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले  कोई बिखर गया है तेरे रूठ जाने से
बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से
हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से
तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले
कोई बिखर गया है तेरे रूठ जाने से

जब वो नाराज होता है,  तब मुझे दुनिया की सबसे महेंगी चीज उसकी मुस्कान लगती है…
जब वो नाराज होता है,
तब मुझे दुनिया की सबसे महेंगी चीज उसकी मुस्कान लगती है…

“रिश्ता” दिल से होना चाहिए, शब्दों से नहीं,  “नाराजगी” शब्दों में होनी चाहिए दिल में नहीं!
“रिश्ता” दिल से होना चाहिए, शब्दों से नहीं,
“नाराजगी” शब्दों में होनी चाहिए दिल में नहीं!

Narazgi Shayari Image
Narazgi Shayari Image
सुलगती जिन्दगी से मौत आ जाये तो बेहतर है
अब हमसे दिल के अरमानों का मातम नही होता |

तेरी मोहब्बत की तालाब थी तो हाथ फैला दिए हमने  वरना हम तो अपनी ज़िन्दगी के लिए भी दुआ नहीं मांगते
तेरी मोहब्बत की तालाब थी तो हाथ फैला दिए हमने
वरना हम तो अपनी ज़िन्दगी के लिए भी दुआ नहीं मांगते

Narajgi Shayari

मेरी फितरत में नहीं हैं किसी से नाराज होना,  नाराज वो होतें हैं जिन्हें अपने आप पर गुरूर होता है।।
मेरी फितरत में नहीं हैं किसी से नाराज होना,
नाराज वो होतें हैं जिन्हें अपने आप पर गुरूर होता है।।

Narajgi Shayari
Narajgi Shayari
आप नाराज़ हों, रूठे, के ख़फ़ा हो जाएँ,
बात इतनी भी ना बिगड़े कि जुदा हो जाएँ !!

सारा जहाँ चुपचाप है..  आहटें ना साज़ है……..  क्यों हवा ठहरी हुई है……..  आप क्या नाराज़ है…….!!!
सारा जहाँ चुपचाप है..
आहटें ना साज़ है……..
क्यों हवा ठहरी हुई है……..
आप क्या नाराज़ है…….!!!

ज़ुलफें मत बांधा करो तुम,
हवाए नाराज़ रहती हैं

मुस्कुराने से भी होता है ग़में-दिल बयां
मुझे रोने की आदत हो ये ज़रूरी तो नहीं

सिमट कर रह जाती है कुछ भावनायें खुद-ब-खुद,  जहाँ परवाह न हो नाराज़गियों की वहाँ शिकायतें भी नही होती,,,,!!
सिमट कर रह जाती है कुछ भावनायें खुद-ब-खुद,
जहाँ परवाह न हो नाराज़गियों की वहाँ शिकायतें भी नही होती,,,,!!

Narazgi Shayari In Hindi

तू क्यों दूर है इतना मुझसे, तुझे चाहता हूँ मैं  पूरे दिल से सुन ले मेरी आरज़ू  तू ही मेरी जान है, तू ही सारा जहाँ है
तू क्यों दूर है इतना मुझसे, तुझे चाहता हूँ मैं
पूरे दिल से सुन ले मेरी आरज़ू
तू ही मेरी जान है, तू ही सारा जहाँ है

हुस्न और इश्क का हर नाज़ है पर्दे में अभी,  अपनी नजरों की शिकायत किसे पेश करूं
हुस्न और इश्क का हर नाज़ है पर्दे में अभी,
अपनी नजरों की शिकायत किसे पेश करूं

Narazgi Shayari In Hindi
Narazgi Shayari In Hindi
मत पूछो कैसे गुजरता है हर पल तुम्हारे बिना
कभी बात करने की हसरत कभी देखने की तमन्ना

माना के सब कुछ पा लुँगा मै अपनी जिन्दगी मै   मगर वो तेरे मैहदी लगे हाथ मेरे ना हो सकेंगे…|
माना के सब कुछ पा लुँगा मै अपनी जिन्दगी मै
मगर वो तेरे मैहदी लगे हाथ मेरे ना हो सकेंगे…|

नाराजगी उनकी हम सह ना सकेंगे   वो दूर चले जाए तो हम रह ना सकेंगे !!   ताउम्र साथ निभाने का अब कर दिया है वादा   तो अपनी बातो से अब हम मुकर ना सकेंगे !!
नाराजगी उनकी हम सह ना सकेंगे
वो दूर चले जाए तो हम रह ना सकेंगे !!
ताउम्र साथ निभाने का अब कर दिया है वादा
तो अपनी बातो से अब हम मुकर ना सकेंगे !!

यहाँ सब खामोश है कोई आवाज़ नहीं करता….  सच बोलकर कोई किसी को नाराज़ नहीं करता….
यहाँ सब खामोश है कोई आवाज़ नहीं करता….
सच बोलकर कोई किसी को नाराज़ नहीं करता….

Narazgi Ki Shayari

Narazgi Ki Shayari
Narazgi Ki Shayari
बस एक यही बात उसकी मुझे अच्छी लगती है,
उदास कर के भी कहती है, तुम नाराज़ तो नहीं हो ना….

तुझ से नहीं तेरे वक़्त से नाराज हूँ…  जो कभी तुझे मेरे लिए नहीं मिला…
तुझ से नहीं तेरे वक़्त से नाराज हूँ…
जो कभी तुझे मेरे लिए नहीं मिला…

ठुकरा दिया तूने अच्छा किया  मुझे मोहब्बत चाहिए अहसान नहीं
ठुकरा दिया तूने अच्छा किया
मुझे मोहब्बत चाहिए अहसान नहीं

वो शख्स कुछ नाराज़ सा था मुझ से   शायद नाराजगी के साथ अकेले घर जा रहा था   चेहरा भी कुछ खामोश सा था उसका   लेकिन शोर उसकी आंखो में नजर आ रहा था
वो शख्स कुछ नाराज़ सा था मुझ से
शायद नाराजगी के साथ अकेले घर जा रहा था
चेहरा भी कुछ खामोश सा था उसका
लेकिन शोर उसकी आंखो में नजर आ रहा था

Shayari On Narazgi In Hindi

मेरे चुप रहने से नाराज़ ना हुआ करो,  कहते है…..टूटे हुए लोग हमेशा ख़ामोश हुआ करते हैं…!!
मेरे चुप रहने से नाराज़ ना हुआ करो,
कहते है…..टूटे हुए लोग हमेशा ख़ामोश हुआ करते हैं…!!

Shayari On Narazgi In Hindi
Shayari On Narazgi In Hindi
देखो नाराज़गी मुझसे ऐसे भी जताती हैं वो,
छुपाती भी कुछ नही जताती भी कुछ नही!

कम से कम मौत से ऐसी मुझे उम्मीद नहीं
ज़िंदगी तू ने तो धोके पे दिया है धोका |

बहुत उदास है कोई शख्स तेरे जाने से
हो सके तो लौट के आजा किसी बहाने से
तू लाख खफा हो पर एक बार तो देख ले
कोई बिखर गया है तेरे रूठ जाने से
हमसे कोई खता हो जाए तो माफ़ करना
हम याद ना कर पाएं तो माफ़ करना
दिल से तो हम आपको कभी भूलते नहीं
पर ये दिल ही रुक जाए तो माफ़ करना

तो आपको हमारे Narazgi Shayari कैसे लगे। अगर यह कोट्स आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। आपको इन Narazgi Shayari Image को पढ़कर काफी अच्छा महसूस हुआ होगा। आगे भी ऐसी  कोट्स के लिए हमे Follow करे हमारे Instagram पर और Quotes को Share करे। धन्यवाद।

No comments:

Post a Comment