Thursday, April 9, 2020

ᐅ Rahat Indori Shayari | Best Rahat Indori Shayari In Hindi

Rahat Indori Shayari -भारत में आज तक बहुत से ऐसे शायर आये जिन्होंने अपनी शायरी से लोगों के दिल जीत लिए। और आगे भी ऐसे शायर आते ही रहेंगे तो आज के बाद जब भी internet पर Rahat Indori Shayari सर्च करेंगे

तो आपके सामने राहत इन्दोरी जी की ये मशहूर शायरियां आएगी। उर्दू भाषा के विशव प्रसिद्ध शायर डॉ राहत इंदोरी हमारे समय के सबसे प्रतिष्ठित कवि, शायर और हिंदी फिल्म गीतकार में से एक हैं। वो एक महान शायर हैं| उनके गीत अब तक 13 से अधिक बॉलीवुड फिल्मों में इस्तेमाल किया गया है, वह मुशैरा के विश्व स्तर पर ज्ञात शायर हैं |

1 जनवरी 1950 को इंदौर में पैदा हुए राहतउल्ला कुरैशी को दुनिया डॉ राहत इंदौरी के नाम से जानती है. शायर राहत इंदौरी जिसने सियासत और मोहब्बत दोनों पर बराबर हक और रवानगी के साथ शेर कहे. राहत मुशायरों में एक खास अंदाज़ में ग़म--जाना (प्रेमिका के लिए) के शेर कहने के जाने जाते हैं.

Rahat Indori Shayari

Rahat Indori Shayari

कालेज के सब लड़के चुप हैं काग़ज़ की इक नाव लियेचारों तरफ़ दरिया की सूरत फैली हुई बेकारी है


Rahat Indori Shayari

किसने दस्तक दी, दिल पे,
ये कौन है? आप तो अन्दर हैं,
बाहर कौन है?

Rahat Indori Shayari

मुझसे पहले वो किसी और की थीमगर कुछ शायराना चाहिये था,
चलो माना ये छोटी बात हैपर तुम्हें सब कुछ बताना चाहिये था|
यह भी पढ़े। 
Desh Bhakti Shayari
True love status in hindi
Taj Mahal Shayari
Smoking Status In Hindi
Rahat Indori Shayari

अब ना मैं हूँना बाकी हैं ज़माने मेरे,
फिर भी मशहूर हैं शहरों में फ़साने मेरे,
ज़िन्दगी है तो नए ज़ख्म भी लग जाएंगे,
अब भी बाकी हैं कई दोस्त पुराने मेरे।

Rahat Indori Shayari
Rahat Indori Shayari

ज़रूर
वो मेरे बारे में राय दे लेकिनये पूछ लेना कभी मुझसे वो मिला भी है

Rahat Indori Shayari
मेरा नसीब मेरे हाथ कट गए वर्नामैं तेरी माँग में सिंदूर भरने वाला था''

Rahat Indori Shayari Status

Rahat Indori Shayari Status

ये हादसा तो किसी दिन गुजरने वाला था,
मैं बच भी जाता तो एक रोज मरने वाला था


Rahat Indori Shayari Status

मैं ने अपनी ख़ुश्क आँखों से लहू छलका दिया इक समुंदर कह रहा था मुझ को पानी चाहिए


Rahat Indori Shayari Status

ख़याल था कि ये पथराव रोक दें चल कर जो होश आया तो देखा लहू लहू हम थे


Rahat Indori Shayari Status
दो ग़ज सही ये मेरी मिल्कियत तो है  मौत तूने मुझे जमींदार कर दिया।

Rahat Indori Shayari Status
Rahat Indori Shayari Status

कभी महक की तरह हम गुलों से उड़ते हैं, कभी धुए की तरह परबतों से उड़ते हैं, ये कैंचियाँ हमें उड़ने से ख़ाक रोकेंगी, के हम परों से नहीं हौसलों से उड़ते हैं...

Rahat Indori Shayari In Hindi

Rahat Indori Shayari In Hindi

अफवाह थी की मेरी तबियत ख़राब हैंलोगो ने पूछ पूछ के बीमार कर दिया,


Rahat Indori Shayari In Hindi

घर के बाहर ढूँढता रहता हूँ दुनिया घर के अंदर दुनिया-दारी रहती है

Rahat Indori Shayari In Hindi

मैं आख़िर कौन सा मौसम तुम्हारे नाम कर देता यहाँ हर एक मौसम को गुज़र जाने की जल्दी थी

Rahat Indori Shayari In Hindi

अब हम मकान में ताला लगाने वाले हैं,
पता चला हैं की मेहमान आने वाले हैं||

Rahat Indori Shayari In Hindi
Rahat Indori Shayari In Hindi

मोड़ होता है जवानी का सँभलने के लिएऔर सब लोग यहीं के फिसलते क्यूं हैं

Rahat Indori

Rahat Indori

तूफ़ानों से आँख मिलाओसैलाबों पर वार करोमल्लाहों का चक्कर छोड़ोतैर के दरिया पार करो

Rahat Indori
Rahat Indori


बोतलें
खोल कर तो पी बरसोंआज दिल खोल कर भी पी जाए

Rahat Indori

मौत लम्हे की सदा ज़िंदगी उम्रों की पुकारमैं यही सोच के ज़िंदा हूं कि मर जाना है

Rahat Indori

आँख में पानी रखो , होंटों पे चिंगारी रखो |
ज़िंदा रहना है तो , तरकीबें बहुत सारी रखो ||


Rahat Indori

पसीने बाँटता फिरता है हर तरफ़ सूरज,
कभी जो हाथ लगा तो निचोड़ दूँगा उसे


Rahat Indori
Rahat Indori

अब ना मैं हूँ, ना बाकी हैं ज़माने मेरे,
फिर भी मशहूर हैं शहरों में फ़साने मेरे,

Rahat Indori Ki Shayari

Rahat Indori Ki Shayari

ऐसी सर्दी है कि सूरज भी दुहाई मांगे,
जो हो परदेस में वो किससे रज़ाई मांगे


Rahat Indori Ki Shayari

रोज़ तारों को नुमाइश  में , खलल पड़ता हैं |
चाँद पागल हैं , अंधेरे में निकल पड़ता हैं ||


Rahat Indori Ki Shayari

उसकी याद आई हैं , साँसों ज़रा धीरे चलो |
धड़कनो से भी इबादत मेंखलल पड़ता हैं ||

Rahat Indori Ki Shayari

ऐसा लगता है लहू में हमकोकलम को भी डुबाना चाहिए थाअब मेरे साथ रह के तंज़ ना करतुझे जाना था जाना चाहिए था


Rahat Indori Ki Shayari
Rahat Indori Ki Shayari

जिस्म से साथ निभाने की मत उम्मीद रखोइस मुसाफ़िर को तो रस्ते में ठहर जाना है

dr rahat indori shayari

dr rahat indori shayari

सारी बस्ती क़दमों में हैये भी इक फ़नकारी हैवरना बदन को छोड़ के अपना जो कुछ है सरकारी है

dr rahat indori shayari

अजनबी ख़्वाहिशें सीने में दबा भी सकूँ,
ऐसे ज़िद्दी हैं परिंदे कि उड़ा भी सकूँ,
फूँक डालूँगा किसी रोज़ मैं दिल की दुनिया,ये तेरा ख़त तो नहीं है कि जला भी सकूँ।

dr rahat indori shayari

मज़ा चखा के ही माना हूँ मैं भी दुनिया कोसमझ रही थी कि ऐसे ही छोड़ दूँगा उसे

dr rahat indori shayari

ये हादसा तो किसी दिन , गुज़रने वाला था |
मैं बच भी जाता तो , इक रोज़ मरने वाला था ||

dr rahat indori shayari

उसकी याद आई हैं साँसों ज़रा धीरे चलोधड़कनो से भी इबादत में खलल पड़ता हैं

dr rahat indori shayari
dr rahat indori shayari

जा के ये कह दो कोई शोलो सेचिंगारी से फूल इस बार खिले है बड़ी तय्यारी से बादशाहों से भी फेंके हुए सिक्के ना लिए हमने ख़ैरात भी माँगी है तो ख़ुद्दारी से।

तो आपको हमारे Rahat Indori Shayari कैसे लगे। अगर यह कोट्स आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। आपको इन Rahat Indori In Hindi For Girlfriend  को पढ़कर काफी अच्छा महसूस हुआ होगा।  आगे भी ऐसी  कोट्स के लिए हमे follow करे हमारे instagram पर और quotes को share करे। धन्यवाद।

No comments:

Post a Comment