Sunday, April 19, 2020

➤Top 50 Desh Bhakti Shayari | Desh Bhakti Shayari Image 2020

Desh Bhakti Shayari: नमस्कार दोस्तो कैसे है आप लोग आशा करता हूँ की आप ठीक ही होंगे। तो दोस्त आज हम आपके लिए 50 से भी ज्यादा देश भक्ति शायरी लेकर आये हैं ।
हम सब अपने प्यारे भारत देश से बहुत प्यार करते हैं, भारत के लोग देश भक्ति की भावना से भरे हुए हैं, यह desh bhakti shayari in hindi आपके भारत के प्रति प्यार को व्यक्त कर सकती है, हमारा वतन सबसे प्यारा है और हमे अपने वतन की रक्षा अवश्य करनी चाहिए। 

देश भक्ति पर यह कविता आपके अपने देश और देश के अमर शहीदों के प्रति सम्मान प्रकट करने में सहायक है, हम भारत के रहने वाले है हम आपको भारत की बनी desh bhakti shayari बताने जा रहे हैं। 

अंग्रेजी में desh bhakti quotes भी कहते है।Desh Bhakti Shayari Image, Desh Ke Upar Shayari, Desh Bhakti Shayari Photo अगर ये शायरी आपको अच्छी लगी हो तो यह हिंदुस्तान शायरी अपने दोस्तों के साथ शेयर करें,

Desh Bhakti Shayari

Desh Bhakti Shayari
वतन की मोहब्बत में खुद को तपाये बैठे है,
मरेगे वतन के लिए शर्त मौत से लगाये बैठे हैं! ??

Desh Bhakti Shayari
उड़ जाती है नींद ये सोचकर
कि सरहद पे दी गयीं वो कुर्बानियां
मेरी नींद के लिए थीं


Desh Bhakti Shayari
अपनी आजादी को हम हरगिज मिटा सकते नही !
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नही!!

Desh Bhakti Shayari
Desh Bhakti Shayari
कोई नाम-व-निशां पूछे तो उस से कह देना
वतन हिन्दोस्तां अपना है हम हिन्दुस्तानी हैं

Desh Bhakti Shayari
मैं मुल्क की हिफाजत करूँगा
ये मुल्क मेरी जान है
इसकी रक्षा के लिए
मेरा दिल और जान कुर्बान है
जय हिन्द

Desh Bhakti Shayari
गूंज रहा है दुनिया में भारत का नगाड़ा,
चमक रहा आसमान में देश का सितारा,
आजादी के दिन आओ मिलकर करें दुआ,
की बुलंदी पर लहराता रहे तिरंगा हमारा।

Desh Bhakti Shayari
ऐ वतन, वतन मेरे, आबाद रहे तू
मैं जहाँ रहूँ जहाँ में याद रहे तू
ऐ वतन मेरे वतन

Desh Bhakti Shayari In Hindi

Desh Bhakti Shayari In Hindi
भारत की फजाओं को सदा याद रहूँगा,
आजाद था, आजाद हूँ, आजाद रहूँगा।

Desh Bhakti Shayari In Hindi
किसी को लगता हैं हिन्दू ख़तरे में हैं,
किसी को लगता मुसलमान ख़तरे में हैं,
धर्म का चश्मा उतार कर देखो यारों,
पता चलेगा हमारा हिंदुस्तान ख़तरे में हैं ||

Desh Bhakti Shayari In Hindi
अनेकता में एकता ही इस देश की शान है,
इसीलिए मेरा भारत महान है

Desh Bhakti Shayari In Hindi
और भी खूबसूरत और भी ऊंचा
मेरे देश का नाम हो जाये,
काश कि हर हिंदू विवेकानंद
और हर मुस्लिम कलाम हो जाये।

Desh Bhakti Shayari In Hindi
हर तूफान को मोड़ दे जो हिन्दोस्तान से टकराए
चाहे तेरा सीना हो छलनी तिरंगा उंचा ही लहराए

Desh Bhakti Shayari In Hindi
Desh Bhakti Shayari In Hindi
ख़ूँ शहीदान-ए-वतन का रंग ला कर ही रहा
आज ये जन्नत-निशाँ हिन्दोस्ताँ आज़ाद है

Desh Bhakti Shayari In Hindi
कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,
हम लहराएंगे हर जगह..
ये तिरंगा नशा ये हिंदुस्तान की शान का है।

Desh Bhakti Shayari 2020

Desh Bhakti Shayari 2020
जो अब तक ना खौला, वो खून नहीं पानी है,
जो देश के काम ना आये, वो बेकार जवानी है
जय हिन्द

Desh Bhakti Shayari 2020
तैरना है तो समंदर में तैरो नालों में क्या रखा हैं,
प्यार करना है तो देश से करो औरों में क्या रखा हैं

Desh Bhakti Shayari 2020
फ़िदा-ए-मुल्क होना हासिल-ए-क़िस्मत समझते हैं
वतन पर जान देने ही को हम जन्नत समझते हैं

Desh Bhakti Shayari 2020
Desh Bhakti Shayari 2020
फना होने की इज़ाजत ली नहीं जाती,
ये वतन की मोहब्बत है जनाब
पूछ के की नहीं जाती।

Desh Bhakti Shayari 2020
ख़ूँ शहीदान-ए-वतन का रंग ला कर ही रहा आज ये जन्नत-निशाँ हिन्दोस्ताँ आज़ाद है

Desh Bhakti Shayari 2020
कर जज्बे को बुलंद जवान, तेरे पीछे खड़ी आवाम !
हर दुश्मन को मार गिराएंगे, जो हमसे देश बँटवाएंगे !!
जय हिन्द

Desh Bhakti Shayari 2020
ये बात हवाओ को बताये रखना,
रोशनी होगी चिरागों को जलाये रखना,
लहू देकर जिसकी हिफाजत हमने की...
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना..

Shayari Desh Bhakti

Shayari Desh Bhakti
मैं मुल्क की हिफाजत करूँगा ये मुल्क मेरी जान है
इसकी रक्षा के लिए मेरा दिल और जान कुर्बान है

Shayari Desh Bhakti
तुझपे कोई गम की आंच आने नहीं दूं
कुर्बान मेरी जान तुझपे शाद रहे तू
ऐ वतन, वतन मेरे, आबाद रहे तू

Shayari Desh Bhakti
ग़ज़लें, दोहे, गीत की शोहरत मुल्क से बाहर फैली थी
हिन्दोस्ताँ से आने वाले, तोहफ़ों में ले जाते थे

Shayari Desh Bhakti
मुझे ना तन चाहिए, ना धन चाहिए
बस अमन से भरा यह वतन चाहिए
जब तक जिन्दा रहूं, इस मातृ-भूमि के लिए
और जब मरुँ तो तिरंगा कफ़न चाहिये

Shayari Desh Bhakti
Shayari Desh Bhakti
रात होते ही आप नींद में खो जाते है,
सूरज ढलते ही वो तैनात हो जाते है…

Shayari Desh Bhakti
आओ झुकर सलाम करे उनको जिनके हिस्से मे ये मुकाम आता है,
खुसनसीब है वो खून जा देश के काम आता है

Shayari Desh Bhakti
बोझ उठाए हुए फिरती है हमारा
अब तक ऐ ज़मीं माँ तिरी ये उम्र तो आराम की थी

Desh Bhakti Shayari Image

Desh Bhakti Shayari Image
शाम-ए-वतन कुछ अपने शहीदों का ज़िक्र कर
जिन के लहू से सुब्ह का चेहरा निखर गया

Desh Bhakti Shayari Image
मिटा दिया है वजूद उनका जो भी इनसे भिड़ा है,
देश की रक्षा का संकल्प लिए जो जवान सरहद पर खड़ा है।

Desh Bhakti Shayari Image
दिल से निकलेगी न मर कर भी वतन की उल्फ़त
मेरी मिट्टी से भी ख़ुशबू-ए-वफ़ा आएगी

Desh Bhakti Shayari Image
आन देश की, शान देश की, इस देश की हम संतान हैं !
तीन रंगों से रंगा तिरंगा, अपनी ये पहचान है !!

Desh Bhakti Shayari Image
Desh Bhakti Shayari Image
कर जस्बे को बुलंद जवान, तेरे पीछे खड़ी आवाम !
हर पत्ते को मार गिरायेंगे जो हमसे देश बटवायेंगे..!

Desh Bhakti Shayari Image
दे सलामी इस तिरंगे को, जिस से तेरी शान हैं
सर हमेशा ऊँचा रखना इसका, जब तक जान हैं

Desh Bhakti Shayari Image
देश के लिए मर मिटना कुबूल है हमें
अखंड भारत के सपने का जूनून है हमें

Desh Ke Upar Shayari

Desh Ke Upar Shayari
मेरे मुल्क की हिफाज़त ही मेरा फ़र्ज है
और मेरा मुल्क ही मेरी जान है,
इस पर कुर्बान है मेरा सब कुछ,
नही इससे बढ़कर मुझको अपनी जान है।

Desh Ke Upar Shayari
“न पूछो ज़माने को, क्या हमारी कहानी है,
हमारी पहचान तो सिर्फ ये है, की हम सिर्फ हिन्दुस्तानी हैं”

Desh Ke Upar Shayari
वतन की ख़ाक ज़रा एड़ियां रगड़ने दे,
मुझे यक़ीन है पानी यहीं से निकलेगा।

Desh Ke Upar Shayari
बहुत अज़ीज़ है अपने वतन की ख़ाक हमें
जो ख़्वाब आँखों में आया वो मोतबर आया

Desh Ke Upar Shayari
लड़े जंग वीरों की तरह,
जब खून खौल फौलाद हुआ |
मरते दम तक डटे रहे वो,
तब ही तो देश आजाद हुआ ||

Desh Ke Upar Shayari
Desh Ke Upar Shayari
“अनेकता में एकता ही इस देश की शान है,
 इसीलिए मेरा भारत महान है”


Desh Ke Upar Shayari
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है

Desh Bhakti Shayari Photo

Desh Bhakti Shayari Photo
सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्ताँ हमारा
हम बुलबुलें हैं इसकी, यह गुलिसताँ हमारा

Desh Bhakti Shayari Photo
अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं

Desh Bhakti Shayari Photo
ऐ शांति अहिंसा की उड़ती हुई परी
आ तू भी आ कि आ गई छब्बीस जनवरी

Desh Bhakti Shayari Photo
Desh Bhakti Shayari Photo
देश के लिए मर मिटना कुबूल है हमें
अखंड भारत के सपने का जूनून है हमें
जय हिन्द

Desh Bhakti Shayari Photo
कर चले हम फ़िदा जाने तन साथियो
अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो
जय हिन्द

Desh Bhakti Shayari Photo
रात होते ही आप नींद में खो जाते है,
 सूरज ढलते ही वो तैनात हो जाते है!!

तो आपको हमारे Desh Bhakti Shayari कैसे लगे। अगर यह कोट्स आपको पसंद आया है तो अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करना ना भूले। आपको इन Desh Bhakti Shayari In Hindi को पढ़कर काफी अच्छा महसूस हुआ होगा।  आगे भी ऐसी  कोट्स के लिए हमे follow करे हमारे instagram पर और quotes को share करे। धन्यवाद। 

No comments:

Post a Comment